Wednesday, July 28, 2021

कोहली और अंपायरों के बीच हुई बहस, भारत को नहीं दिया गया DRS, देखें वीडियो

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले जा रहे तीन टी-20 मैचों की श्रृंखला का आज तीसरा और आखिरी मैच सिडनी में खेला गया। इस मैच में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 12 रनों से हराया। तीन मैचों की सीरीज भारत पहले ही अपने नाम कर चुका था।

187 रनों का मिला था लक्ष्य

भारत ने आज टॉस जीता और ऑस्ट्रेलिया को पहले बल्लेबाजी करने के लिए आमंत्रित किया। ऑस्ट्रेलिया की शुरुआत कुछ खास नहीं रहे एवं उनके कप्तान एरोन फिंच शून्य के स्कोर पर वाशिंगटन सुंदर की गेंद पर आउट हो गए। दूसरे सलामी बल्लेबाज यानी कि उप कप्तान मैथ्यू वेड ने एक छोर को थामे रखा एवं बहुत अच्छी बल्लेबाजी की। उन्होंने कुल 80 रन बना है। इसके अलावा ग्लेन मैक्सवेल ने 54 रनों की पारी खेली। ग्लेन मैक्सवेल की पारी काफी हास्यास्पद रही। उनके कई कैच छूटे एवं भारत ने दो बार उनके खिलाफ डीआरएस का प्रयोग किया। एक बार तो चहल की गेंद पर उनका कैच लपक लिया गया परंतु वह गेंद ही नोबेल हो गई।

मैथ्यू वेड के एलबीडब्ल्यू को लेकर के हुआ विवाद

ऑस्ट्रेलियाई पारी के 11वें ओवर में नटराजन गेंदबाजी कर रहे थे। ओवर की चौथी गेंद वेड के पैरों पर लगी। गेंदबाज नटराजन ने हल्की सी अपील की। परंतु इस अपील का अंपायर पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा। इस बीच मैदान में लगे बिग स्क्रीन पर इस गेंद का रिप्ले दिखा दिया गया। तब ही विराट कोहली ने डीआरएस लेने का इशारा किया। थर्ड अंपायर ने विराट कोहली के इस मांग को ठुकरा दिया। उनका कहना था कि विराट कोहली ने रीप्ले देखने से पहले डीआरएस की मांग नहीं की थी।

अंपायरों से नाराज दिखे कोहली

इस घटना के बाद विराट कोहली अंपायरों से नाराज दिखे एवं उन्हें काफी देर तक अंपायरों से बहस करते देखा गया। उनका कहना था कि बिग स्क्रीन पर वह 15 सेकंड वाला टाइमर नहीं दिखाया गया लेकिन अंपायरों का कहना था की चुकी आपने डीआरएस संबंधी कोई भी बातचीत नहीं की इसलिए ऑपरेटर को लगा कि आप अब डीआरएस के बारे में नहीं सोच रहे हैं एवं उन्होंने रीप्ले दिखा दिया।

मिडिल ओवर्स में धीमी बल्लेबाजी बनी हार का कारण

187 रनों का पीछा करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत भी काफी खराब रही। सलामी बल्लेबाज केएल राहुल बिना खाता खोले मैक्सवेल की गेंद पर आउट हो गए। इसके बाद बल्लेबाजी करने आए कोहली ने धवन के साथ मिलकर अच्छी बल्लेबाजी की। पावर प्ले की समाप्ति तक भारत का स्कोर 55 रन था एवं उसके एक ही विकेट गिरे हुए थे। लेकिन जैसे ही पावरप्ले खत्म हुआ भारत के रनों की गति काफी कम हो गई। ऑस्ट्रेलियाई स्पिनर ने भारत की बल्लेबाजी काफी धीमी कर दी। इस बीच भारत ने धवन, सैमसन एवं श्रेयस अय्यर का विकेट भी खो दिया।

हार्दिक पंड्या नहीं कर पाए अधिक कमाल

आखिरी 5 ओवर में भारत को जीत के लिए 80 से भी अधिक रनों की आवश्यकता थी परंतु हार्दिक पंड्या और विराट कोहली मिलकर भी इस स्कोर का पीछा नहीं कर पाये। आखिरी ओवर में शार्दुल ठाकुर ने छक्के लगाकर मैच में कुछ रोमांच लाने की कोशिश की परंतु ऐसा हो ना सका। भारत स्कोर का पीछा नहीं कर पाया एवं हार गया।

अब है टेस्ट की बारी

एकदिवसीय श्रृंखला एवं टी20 श्रृंखला के समाप्त होने के बाद अब भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चार टेस्ट मैचों की श्रृंखला बची है। जहां वनडे श्रृंखला को ऑस्ट्रेलिया ने जीता वही भारतीय टीम ने वापसी करते हुए t20 सीरीज को अपने नाम किया। आखिरकार जो इस टेस्ट सीरीज को जीतेगा वही असली चैंपियन होगा। तो देखते हैं इस बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी में कौन किस पर भारी पड़ता है।

सबसे लोकप्रिय